UPPCS  की तैयारी कैसे करें ?
UPPCS / 13/ 8 months ago

UPPCS की तैयारी कैसे करें ?

यूँ तो IAS कैसे बनें - विषय पर कई पुस्तकें लिखी जा चुकी हैं , जिनमें कुछ तो काफी लोकप्रिय हैं और सिविल सेवा अभ्यर्थियों के लिए लाभप्रद भी हैं लेकिन फिर भी सिविल सेवा से जुड़ी अनेक बातें ऐसी हैं जो अभ्यर्थियों के दिमाग में चलती रहती हैं , जिनके जबाव उनको किताबों में भी नहीं मिल पाते । विशेषकर राज्य लोक सेवा आयोगों के विषय में अभ्यर्थियों की जिज्ञासाओं का कोई प्रामाणिक समाधान नहीं मिल पाता ।
चूँकि मैंने उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के अलावा राजस्थान लोक सेवा आयोग व उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग की परीक्षाओं में सफलताएँ पाईं , इसलिए राज्य लोक सेवा आयोगों का विशद अनुभव कई अभ्यर्थियों के काम आ सकता है । हम विभिन्न राज्य लोक सेवा आयोगों के द्वारा ली जाने वाली सिविल सेवा परीक्षाओं पर एक – एक करके विस्तृत चर्चा करेगें । मेरे इन आलेख श्रृंखलाओं में उस राज्य विशेष के सफल अभ्यर्थियों के अनुभवों को समाहित किया जाएगा । जिसका सीधा लाभ सभी अभ्यर्थियों को मिलेगा ।
सबसे पहले हम इस श्रृंखला की शुरुआत उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग से करेंगे । आशा है आपको ये अनोखी और अपने तरह की प्रथम पहल पसन्द आयेगी और देश के सबसे बड़े प्रदेश ( आबादी के हिसाब से ) के लाखों अभ्यर्थियों को लाभ देगी । आप अपने प्रश्न भी रख सकते हैं जिनके उचित समाधान देने का पूरा प्रयास रहेगा ।
आईये शुरुआत करते हैं- उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की पी.सी.एस. परीक्षा से ।
आज की इस पहली कड़ी में उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की पी.सी.एस. परीक्षा के विषय में संक्षिप्त में परिचय दे दूँ , हालाँकि आगे की कड़ियों में एक- एक बिन्दू पर विस्तृत चर्चा करेगें ।
सबसे पहले तो ये जान लीजिए कि पी.सी.एस बनने के लिए केवल स्नातक होने के आवश्यकता है , फिर वो चाहे किसी भी विषय से हो । ना ही किसी परसेन्टेज की बाध्यता है । आप बस केवल स्नातक हों , इतना ही पर्याप्त है ।
दूसरी बात ये कि IAS बनने के लिए सामान्य अभ्यर्थियों के लिए जहाँ अधिकतम आयु 32 वर्ष है , वहीं UPPCS में सामान्य अभ्यर्थियों के लिए अधिकतम आयु 40 वर्ष है । इसलिए यदि किसी कारण से आई.ए.एस. बनने का सपना पूरा ना भी हो पाए तो भी पी.सी.एस. बनने का सपना तो अवश्य पूरा किया जा सकता है । पी.सी.एस अधिकारी भी पदोन्नत होकर आई.ए.एस काडर प्राप्त कर लेते हैं । इसलिए किसी कारण से यदि आप आई.ए.एस. ना बन पाएं तो भी मन छोटा ना करें, पी.सी.एस. बनकर आप इस सपने को साकार कर सकते हैं । अन्य पिछड़ा वर्ग , अनुसूचित जाति व जनजाति वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए अधिकतम आयु में जहाँ पाँच वर्ष की छूट दी गई है वहीं उत्तर प्रदेश के दिव्यांग अभ्यर्थियों के लिए अधिकतम आयु में पन्द्रह वर्ष की छूट दी गई है ।
इसके अतिरिक्त यदि आप राज्य सेवा कर्मचारी हैं या एडेड माध्यमिक विद्यालय में अध्यापक हैं तो भी अधिकतम आयु में पाँच वर्ष की छूट दी गई है । इसे एक तालिका के रुप में लिख लेते हैं –
विभिन्न वर्ग के लिए अधिकतम आयु -
सामान्य वर्ग – 40 वर्ष
अन्य पिछडा वर्ग – 45 वर्ष
अनुसूचित जाति व जनजाति – 45 वर्ष
दिव्यांग – 55 वर्ष
राज्य कर्मचारी / एडेड विद्यालय में अध्यापक- 45 वर्ष
न्यूनतम आयु 21 वर्ष ही है । और आयु की गणना उस वर्ष की जुलाई माह की एक तारीख को की जाती है , जैसे UPPCS – 2022 के लिए आयु की गणना 1 जुलाई 2022 को की जाएगी ।
स्वाभाविक है कि उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग अधिक आयु तक आपको अधिकारी बनने का अवसर प्रदान करता है । एक बात और जो विशेष उल्लेखनीय है कि IAS परीक्षा की तरह यहाँ अटेम्प्ट की कोई बाध्यता नहीं है । कोई भी अभ्यर्थी अधिकतम आयु तक कितने भी अटेम्प्ट दे सकता है । इसलिए किसी कारण से यदि तैयारी पूरी ना हो तो भी आप परीक्षा में अवश्य सम्मिलित हों ताकि परीक्षा हॉल का अनुभव आपको वो सिखा सके जो आपको हजारों मोटीवेशनल भाषण नहीं सिखा सकते । हाँ , दोस्तो , परीक्षा हॉल का अनुभव ही सबसे बड़ा गुरु है । आप चाहे कितने भी कोचिंग में पढ़ लें, कितने भी लेक्चर सुन लें , लेकिन जो अनुभव आप परीक्षा हॉल में लेते हैं वो अप्रतिम होता है । इसलिए भले ही अभी तैयारी पूरी ना भी हुई हो, तो भी आप परीक्षा में अवश्य बैठें ।
आपके प्रश्नों की प्रतीक्षा रहेगी , साथ ही आपकी प्रतिक्रियाओं की भी कि आपको ये अनूठी पहल कैसी लगी ?  

- डॉ. श्याम सुन्दर पाठक
( लेखक उत्तर प्रदेश में राज्य वस्तु एवं सेवा कर विभाग में असिस्टेंट कमिश्नर पद पर तैनात हैं और एक प्रसिद्ध मोटीवेशनल स्पीकर , कैरियर काउंसलर , लेखक व कवि हैं )  

Leave a comment