स्किल्ड युवाओं के लिए शानदार क्षेत्र
Business / 19/ 6 months ago

स्किल्ड युवाओं के लिए शानदार क्षेत्र

तकनीकी विकास ने प्रतिभावान युवाओं के लिए कॅरिअर की         कई चुनौतीपूर्ण राहें खोली हैं, रोबोटिक्स उनमें से एक है...

ज की दुनिया बहुत हाईटेक होती जा रही है। इस कारण टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में कॅरिअर की संभावनाएं भी बढ़ रही हैं। पारंपरिक इंजीनियरिंग की डिग्री केवल इंजीनियरिंग के क्षेत्र में उपलब्ध थी, लेकिन टेक्नोलॉजी के विस्तार ने इंजीनियरिंग के क्षेत्र में नए पाठ्यक्रमों का युग शुरू किया है। इसका प्रमुख कोर्स ऑटोमेशन और रोबोटिक्स इंजीनियरिंग से जुड़ा क्षेत्र है। ऑल इंडिया काउंसिल फॉर रोबोटिक्स एंड ऑटोमेशन ने एक नई पहल' टेक स्टार्टअप प्रोग्राम' के रूप में की है। इस क्षेत्र में कॅरिअर की बहुत अधिक संभावनाएं माैजूद हैं।
क्‍या है रोबोटिक्स?
रोबोटिक्‍स एक ऑटोमैटिक मैकेनिकल डिवाइस है, जो कंप्यूटर प्रोग्राम या इलेक्ट्रॉनिक मशीनों की मदद से वह काम करती है, जिसे आप असाइन करते हैं। यह एक ऐसा सिस्टम है, जिसमें सेंसर्स, कंट्रोल सिस्टम, मेनुपुलेटर्स, पावर सप्लाई और सॉफ्टवेयर सभी चीजें होती हैं। रोबोटिक्स, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग और कंप्यूटर साइंस का एक हिस्सा है। इस ब्रांच में रोबोट के डिजाइन, कंस्ट्रक्शन, पावर सप्लाई, इंफोर्मेशन प्रोसेसिंग और सॉफ्टवेयर पर काम होता है। रोबोटिक्स के लिए बीटेक या बीई कंप्‍यूटर, आईटी, मैकेनिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स, इलेक्ट्रिकल का कोर्स होता है। आईआईटी दिल्ली, कानपुर, मुंबई, चेन्नई, खड़गपुर, गुवाहाटी तथा रुड़की सहित कई इंजीनियरिंग संस्थानों द्वारा रोबोटिक्स में कार्यक्रम संचालित किए जाते हैं।

कॅरिअर की संभावाएं...
रोबोटिक्स के क्षेत्र में स्किल्‍ड युवा शानदार कॅरिअर बना सकते हैं। संबंधित कोर्स करने के बाद आप रोबोट के रिसर्च एंड डेवलपमेंट, रोबोट मैन्युफैक्चरिंग एंड टेस्टिंग, क्वालिटी कंट्रोल के सेक्टर में कार्य कर सकते हैं। यहां पर आप रोबॉटिक्स इंजीनियर, रोबॉटिक्स साइंटिस्ट, टेक्नीशियन के तौर पर जॉब कर सकते हैं। वहीं रोबोटिक्स में मास्टर्स डिग्री करने वाले स्टूडेंट्स इसरो और नासा जैसे अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन में जा सकते हैं। इस फील्ड के उम्मीदवारों को नासा के अलावा अन्य बहुत- सी प्राइवेट इंडस्ट्रीज, ऑटो मोबाइल्स और इंडस्ट्रियल टूल्स में जॉब के अवसर मिलते हैं। रोबोटिक्स प्रोग्रामर, रोबोटिक्स डिजाइन इंजीनियर, रोबोटिक्स सिस्टम इंजीनियर, रोबोट टेस्ट इंजीनियर, ऑटोमेटेड प्रोडक्ट डिजाइन इंजीनियर जैसे जॉब प्रोफाइल पर रह कर कार्य करना होता है।
रोबोट का बढ़ रहा इस्तेमाल...
औद्योगिक रोबोट, पर्सनल रोबोट, मेडिकल उपयोग के लिए रोबोट तथा ऑटोनोमस रोबोट श्रेणी में इस्‍तेमाल हो रहा है। इनमें सबसे बड़ी श्रेणी औद्योगिक रोबोट्स की होती है, जो साधारण प्रोग्राम योग्य रोबोट होते हैं, जिनका इस्तेमाल मैन्युफैक्चरिंग यूनिट में प्रयोग किया जा रहा है। उद्योगों में रोबोट्स का उपयोग निर्माण प्रक्रिया को तेज करने के लिए किया जाता है। औद्योगिक रोबोट्स द्वारा वेल्डिंग, पेंटिंग तथा  मशीनों में कलपुर्जे लगाने का काम किया जाता है। रोबोट्स असेंबलिंग, कटिंग तथा ऑटो मोबाइल्स के विभिन्न पार्ट्स को लगाने का काम भी बड़ी कुशलता से करते हैं। एटॉमिक, थर्मल तथा न्यूक्लियर पावर स्टेशनों पर खतरनाक एवं जोखिम वाले तत्वों की साज-संभाल तथा मेंटेनेंस में भी रोबोट्स का प्रयोग बढ़ा है।
रोबोटिक्स सेक्टर में सैलरी...
यह सेक्‍टर सैलरी के मामले में टॉप सेक्‍टर में गिना जाता है। यहां पर आप शुरुआती सैलरी ही प्रतिमाह एक लाख से पांच लाख रुपये तक ले सकते हैं। यह आपके कॉलेज और कंपनी पर निर्भर करता है। वहीं कुछ सालों के अनुभव के बाद आपकी सालाना सैलरी का बढ़ना एकदम तय है।

Leave a comment