क्लाउड कंप्यूटिंग  के क्षेत्र में शानदार स्कोप
Business / 15/ 2 months ago

क्लाउड कंप्यूटिंग के क्षेत्र में शानदार स्कोप

अगर आप एक आईटी और सॉफ्टवेयर एक्सपर्ट हैं, तो आप क्लाउड कंप्यूटिंग में क्लाउड आर्किटेक्ट के तौर पर अपना कॅरिअर शुरू कर सकते हैं...
भारत में वर्ष 2022 तक क्लाउड कंप्यूटिंग की विभिन्न फील्ड्स में एक मिलियन से भी ज्यादा जॉब्स जनरेट होंगी। क्लाउड कंप्यूटिंग की विभिन्न फील्ड्स में एक्सपर्ट प्रोफेशनल्स की मांग निरंतर बढ़ेगी, क्योंकि आजकल पूरी दुनिया की अनेक कंपनियां इस टेक्नोलॉजी को अपना रही हैं। अगर आप एक आईटी और सॉफ्टवेयर एक्सपर्ट हैं तो आप क्लाउड कंप्यूटिंग में क्लाउड आर्किटेक्ट के तौर पर अपना कॅरिअर शुरू कर सकते हैं। क्लाउड आर्किटेक्ट संबद्ध प्रोजेक्ट्स की तकनीकी आवश्यकताओं को आर्किटेक्चर और डिजाइन में परिवर्तित करने के लिए जिम्मेदार होता है। ये प्रोफेशनल्स क्लाउड में जटिल व्यावसायिक समस्याओं और समाधानों के बीच अंतराल को कम करने के लिए भी जिम्मेदार होते हैं। पूरी दुनिया में क्लाउड कंप्यूटिंग में एक्सपर्ट प्रोफेशनल्स को बेहतरीन सैलरी पैकेज ऑफर किये
जाते हैं।
भारत में कंप्यूटर और आईटी एक्सपर्ट्स एक क्लाउड आर्किटेक्ट के तौर पर अपना बेहतरीन कॅरिअर शुरू कर सकते हैं। फिर आप अपनी कॅरिअर लाइन के माध्यम से क्लाउड कंप्यूटिंग में अपना महत्त्वपूर्ण योगदान दे सकते हैं।
क्लाउड कंप्यूटिंग को जानें...
क्लाउड कंप्यूटिंग में सभी संबद्ध कंप्यूटर रिसोर्सेज को शेयर किया जाता है और इसमें प्रोसेसिंग के लिए लोकल सर्वर्स या अन्य डिवाइसेस का इस्तेमाल किया जाता है। दूसरे शब्दों में, क्लाउड कंप्यूटिंग एक ऐसा प्रोसेस है, जिसके तहत बार-बार इस्तेमाल किये जाने वाले डाटा को मल्टीपल सर्वर्स पर स्टोर किया जाता है और इंटरनेट के माध्यम से क्लाउड कंप्यूटिंग के सभी कार्य किए जाते हैं। आसान शब्दों में, इंटरनेट के जरिये ही यूजर्स के कंप्यूटर सिस्टम को सर्वर्स, स्टोरेज फैसिलिटी और अन्य जरुरी एप्लीकेशन्स प्रदान किए जाते हैं। ड्रापबॉक्स और गूगल अपने यूजर्स को ये सुविधाएं उपलब्ध करवाते हैं।
क्लाउड आर्किटेक्ट्स के लिए जरुरी स्किल सेट..
इन पेशेवरों के पास एजुकेशनल क्वालिफिकेशन के साथ निम्नलिखित वर्क-स्किल्स जरुर होनी चाहिए।
=टेक्निकल स्किल्स एचटीएमएल, क्लाउड कंप्यूटिंग बेसिक्स, ओओपीएस, जावा, सीसीप्लस,नेट।
=सिक्यूरिटी, इंटरनेट, एन्क्रिप्शन, ऑथराइजेशन और सिक्यूरिटी प्रोटोकॉल्स।
=डाटा इंटीग्रेशन और डाटा एनालिसिस -डाटा माइनिंग, ईआरपी सिस्टम।
=प्रोजेक्ट मैनेजमेंट स्किल्स/रिस्क एनालिटिक्स, सर्विस अग्रीमेंट्स और कंपनी पॉलिसीज।
=बिजनेस और फाइनेंस/बिजनेस केस, ऑनलाइन मार्केटिंग स्ट्रेटेजीज और फाइनेंस से संबद्ध
सभी प्रकार की जरुरी जानकारियां।
क्लाउड आर्किटेक्ट कौन होते हैं?
ये पेशेवर आईटी की फील्ड के एक्सपर्ट्स होते हैं और आमतौर पर संबद्ध कंपनी के क्लाउड कंप्यूटिंग सिस्टम की देख-भाल करते हैं। ये पेशेवर मुख्य रूप से अपनी कंपनी या संस्थान के लिए क्लाउड एप्लीकेशन डिजाइन तैयार करते हैं और क्लाउड कंप्यूटिंग से संबद्ध योजनाओं को अप्रूव करने के साथ-साथ क्लाउड स्टोरेज की समुचित व्यवस्था भी करते हैं। इन पेशेवरों को क्लाउड डेवलपर या क्लाउड सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर के नाम से भी जाना जाता है।
भारत में यहां हैं नौकरियों के अवसर...
देश-दुनिया में इंटरनेट और डाटा के लगातार बढ़ते हुए इस्तेमाल के कारण आजकल क्लाउड कंप्यूटिंग की फील्ड में क्लाउड आर्किटेक्ट्स या क्लाउड पेशेवरों के लिए कई किस्म की जॉब्स या कॅरिअर विकल्प मौजूद हैं। लेकिन हरेक जॉब प्रोफाइल के लिए इन पेशेवरों को  क्लाउड कंप्यूटिंग की बेसिक जानकारी के साथ-साथ संबद्ध फील्ड की विशेष जानकारी जरुर होनी चाहिए। हमारे देश सहित पूरी दुनिया में क्लाउड कंप्यूटिंग से जुड़ी प्रमुख जॉब प्रोफाइल्स या कॅरिअर विकल्प निम्नलिखित हैं:
=क्लाउड कंसलटेंट
=क्लाउड सिस्टम इंजीनियर/एडमिनिस्ट्रेटर
=क्लाउड सॉफ्टवेयर इंजीनियर
=क्लाउड नेटवर्क इंजीनियर
=क्लाउड नेटवर्क आर्किटेक्ट/प्लानर
=क्लाउड आर्किटेक्ट/ डेवलपर/प्रोग्रामर
=क्लाउड प्रोडक्ट मैनेजर
=क्लाउड सेल्स एग्जीक्यूटिव
=क्लाउड बिजनेस एनालिस्ट

प्रमुख संस्थान
इंस्टीट्यूट ऑफ इंफाॅर्मेशन टेक्नोलॉजी, दिल्ली
एनएनआईटी, दिल्ली
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ जॉब ट्रेनिंग, बैंगलोर
फोकस्ड आईटी एकेडमी, चेन्नई
पूर्णिमा यूनिवर्सिटी, जयपुर
क्वांटम स्कूल ऑफ टेक्नोलॉजी, देहरादून
एसजीटी यूनिवर्सिटी, हरियाणा


Leave a comment