हॉस्पिटल मैनेजमेंट में है सुनहरा भविष्य
Business / 37/ 1 month ago

हॉस्पिटल मैनेजमेंट में है सुनहरा भविष्य

हॉस्पिटल मैनेजर का कार्य पूरे संगठन और प्रंबधकीय कार्यों को सुचारू रूप से चलाना होता है। प्रबंधक हॉस्पिटल के भौतिक व आर्थिक संस्थानों का प्रभावी उपयोग सुनिश्चित करता है तथा साथ ही कर्मचारियों को लाभ पहुंचाने व उनके विकास को सुनिश्चित करने का काम भी हॉस्पिटल प्रबंधक का ही होता है। हॉस्पिटल प्रबंधक अपने सहायकों की टीम के द्वारा प्रशासकीय कार्यों जैसे-समन्वयन व हॉस्पिटल के भीतर स्वास्थ्य सेवाओं की आपूर्ति सुनिश्चित करते हैं। पहले वरिष्ठ डॉक्टर ही हॉस्पिटल मैनेजर की भूमिका निभाते थे, लेकिन परिवर्तन के दौर में हॉस्पिटल को सुचारू ढंग से चलाने के लिए पेशेवर व दक्ष मैनेजरों की मांग बढ़ गई है। पेशेवर मैनेजरों की मांग हॉस्पिटल को उत्पादकीय, लाभकारी और रोगियों की सुचारू रूप से देखभाल के लिए होती है। इस क्षेत्र में तरक्की करने के लिए हॉस्पिटल मैनेजर के पास वित्तीय व सूचना विषयक उच्च जानकारी डाटा को व्याख्या करने और विभिन्न विभागों व रोगियों के बीच सूचनाओं का तालमेल करने का गुण होना चाहिए।

कैसे होता है चयन
हॉस्पिटल प्रबंधन स्नातक (बीएचए) में प्रवेश मुख्यत 12वीं में प्राप्त अंकों के आधार पर ही होता है। इसके अलावा ग्रुप डिस्कशन तथा इंटरव्यू के आधार पर भी चयन किया जाता है। चयन करते समय अंग्रेजी भाषा पर पकड़, बातचीत करने की कला, कंप्यूटर ज्ञान तथा प्रबंधकीय योग्यताओं को मुख्य रूप से देखा जाता है।

अवसर
हॉस्पिटल मैनेजमेंट के क्षेत्र में हेल्थ एजेंसी, प्रयोगशाला तथा अन्य स्वास्थ्य से जुड़ी सेवाओं में भी कॅरिअर विकल्प तलाशे जा सकता है।

कौन कर सकता है यह कोर्स
हॉस्पिटल मैनेजमेंट में स्नातक डिग्री पाने के लिए 12वीं में बायोलॉजी में कम से कम 50 प्रतिशत अंक होने अनिवार्य हैं। चाहे तो स्नातक डिग्री पाने के बाद हॉस्पिटल मैनेजमेंट में एमबीए या स्नातकोत्तर तथा डिप्लोमा कोर्स भी किया जा सकता है। स्नातकोत्तर कोर्स करने के लिए योग्यता संस्थान के अनुसार भिन्न हो सकती है। इस क्षेत्र में मुख्यतः प्रोफेशनल कोर्स बैचलर ऑफ हॉस्पिटल मैनेजमेंट, पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन हॉस्पिटल मैनेजमेंट, मास्टर ऑफ हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन, एमबीए इन हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन आदि उपलब्ध हैं। कुछ संस्थानों में शार्ट टर्म कोर्स, सर्टिफिकेट, डिप्लोमा तथा कॉरेस्पोंडेंस कोर्स भी उपलब्ध हैं।

प्रमुख संस्थान
- अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, नई दिल्ली
- दिल्‍ली पैरामेडिकल एंड मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट, नई दिल्ली
- अपोलो इंस्टीट्यूट ऑफ हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन, हैदराबाद
- इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल वेलफेयर और मैनेजमेंट, कोलकाता

Leave a comment