ऐसे करें रीजनिंग की तैयारी
Banking / 25/ 1 month ago

ऐसे करें रीजनिंग की तैयारी

प्रतियोगी परीक्षाओं में सबसे ज़्यादा वक़्त लेने वाला सब्जेक्ट है रीजनिंग यानी कि तर्कशक्ति। अगर आप भी कोई एग्जाम देने वाले हैं तो रीजनिंग कि तयारी करना आपके लिए अनिवार्य है। रीजनिंग एक स्कोरिंग विषय है। आज हम आपको रीजनिंग से जुड़े कुछ ख़ास टिप्स और तरीक़े बताने वाले हैं। इनकी मदद से आप रीजनिंग को आसानी से पढ़ पाएंगे और इम्तेहान में आप कम समय में ज्यादा सवाल हल कर पाएंगे।

फोकस बनाएं
रीजनिंग के लिए सबसे पहला मूलमंत्र है एकाग्रता। किसी भी विषय पर एकाग्रता क साथ पढ़ाई करने पर आपकी उस पर अच्छी पकड़ हो जाती है। रीजनिंग में अगर आपने फोकस करना सीख लिया तो आप 2 मिनट का सवाल 10 सेकंड में हल कर सकते हैं।
प्रैक्टिस करें
खुद को कड़े टाइम शेड्यूल में रखकर प्रैक्टिस करें। आप जिस इम्तेहान की तैयारी कर रहे हैं उसके मुताबिक अपने सवाल हल करने के लिए एक वक़्त तय कर लें और अपनी स्पीड बढ़ाने की कोशिश करें। प्रैक्टिस के साथ आपको रीजनिंग में मज़ा आने लगेगा। ध्यान रखिये रीजनिंग तभी तक मुश्किल लगती है जब तक कि आपको उसकी तकनीक समझ नहीं आ जाती।

ट्रिक और फॉर्मूले
इनकी मदद से आप रीजनिंग के मुश्किल से मुश्किल सवालों को आराम से हल कर सकते हैं। अपने सीनियर्स या किसी कोचिंग इंस्टिट्यूट तथा इन्टरनेट के माध्यम से आप इन ट्रिक और फ़ॉर्मूला के बारे में सीख सकते हैं। आप चाहें तो अपने सीखे हुए फ़ॉर्मूलों का चार्ट भी बना सकते हैं।

शांत चित से करें पढ़ाई
रीजनिंग कि पढ़ाई के लिए एकांत जगह पर बैठें जहाँ आप पूरी तरह से फोकस कर सकें। रीजनिंग की शुरूआती प्रैक्टिस में ध्यान केन्द्रित करना और भी ज्यादा अनिवार्य है। शोर शराबे या दो तीन लोगों के बीच बैठने पर अप सवाल पर ध्यान नहीं दे पाएंगे और आपको ज़्यादा वक्त लगेगा। एक बार आपके बेसिक्स पक्के हो जाएं तो आप रीजनिंग की भी कंबाइंड स्टडी कर सकते हैं।

पुराने पेपर हल करें
रीजनिंग की तैयारी के लिए ये एक महत्वपूर्ण काम है। इससे आपको सवालों के नेचर का पता चल जाएगा और आपको कितनी प्रैक्टिस की ज़रुरत है इसका भी अंदाजा लग जाएगा। कोशिश करें कि कम से कम पिछले दस साल के पेपर सॉल्व कर लें। ध्यान रखें कि इन पेपर्स को सॉल्व करते वक़्त टाइम पर कड़ी नज़र रखें। बिना टाइम शेड्यूल के पेपर सॉल्व करने का कोई फायदा नहीं है।

Leave a comment